Sunday, May 22, 2022
No menu items!
More
    Homeअजब-गजबक्या सच में है गुजरात के डुमस बीच पर भूतों का बसेरा?

    क्या सच में है गुजरात के डुमस बीच पर भूतों का बसेरा?

    भारत में बहुत सी ऐसी जगहे हैं जिनका रहस्य काफी दिलचस्प है लेकिन इसके साथ ही कुछ ऐसी भी जगहें हैं जहां कि डरावनी कहानियों के बारे में सुनकर लोगों के रौंगटे भी खड़े हो जाते हैं। ऐसा ही कुछ गुजरात का डुमस बीच (Beach) है जिसे लोग Haunted Beach के नाम से भी जानते हैं। यहां का रहस्य बहुत ही अलग है और लोगों की माने तो यहां पर भूतों का बसेरा रहता है लेकिन इस बात में कितनी सच्चाई है इसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बताएंगे।

    क्या सच में डुमस का किनारा है भूतीया


    गुजरात के समुद्री तट पर स्थित दमस बीच जिसे लोग डुमस बीच भी कहते हैं। ये बीच हमेशा चर्चा में रहता है इसलिए पर्यटक खासतौर पर इसे देखने जाते हैं क्योंकि लोग यहां का लुत्फ उठाना चाहते हैं और ये चर्चा में क्यों है इसके बारे में जानने की जिज्ञासा रखते हैं।

    यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि सूर्य अस्त के बाद इस Haunted Beach से अजीब-अजीब तरह की चीखने-चिल्लाने की आवाजें आती हैं। ये बातें सुनकर अच्छे-अच्छों के पसीने छूट जाते हैं इसलिए शाम होते ही ये बीच पूरी तरह से खाली हो जाता है।

    Dumas Beach के बारे में इसलिए ज्यादा लोग जानना चाहते हैं क्योंकि ये इंटरनेट पर भी चर्चा का विषय बना रहता है और हर कोई यहां से जुड़ा अपना अनुभव सोशल मीडिया पर शेयर करता है। मगर इस जगह से ये आवाजें क्यों आती हैं इसके बारे में बहुत से लोगों के पास अलग-अलग तथ्य है लेकिन असल में इसका क्या रहस्य है ये कोई नहीं जानता।

    डुमस बीच का इतिहास | 

    अरब सागर से सटा हुआ ये बीच सूरत से 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां की रेत सफेद नहीं बल्कि काली होती है और इस बीच का इतिहास किसी राजा या रानी की प्रेम कथा का नहीं है लेकिन यहां के लोगों का मानना है कि सदियों पहले यहां पर भूत-प्रेतों ने अपना गढ़ बनाया था और इसलिए यहां की रेत काली है। इससे जुड़ी एक बात शत प्रतिशत सही है कि इस बीच से लगा हुआ शव दाह ग्रह है जहां पर लाशें जलाई जाती हैं। लोगों का मानना है कि जिन लोगों को मोक्ष प्राप्त नहीं होता है या जिनकी असमय किसी एक्सिडेंट या खुदखुशी द्वारा मौत हो जाती है उनकी रूह इस बीच पर भटकती रहती है। रात होते ही सभी रूह अपने-अपने ठिकानों से निकलकर शोकाकुल करती हैं। इनमें कोई अच्छी तो कोई बुरी आत्मा होती है जो आपस में विलाप करते हुए चीखती-चिल्लाती हैं। अब इस बात में कितनी सच्चाई है ये तो कोई नहीं जानता लेकिन वहां चीखने-चिल्लाने की आवाज आना बिल्कुल सत्य बात है।

    कुछ लोग इस बात से करते हैं


    सोशल मीडिया पर अक्सर लोग इस जगह से जुड़ी बातों को शेयर करते हैं। इसी तरह सूरत के रहने वाले विश्वास पटेल ने भी अपना एक्सपीरिएंस शेयर करते हुए कुछ बातें बताईं। उन्होंने कहा, ‘मैं दो बार ही डुमस बीच पर गया हूं। वहां अपने दोस्तों के साथ रात में समय भी बिताया। जब मैं वहां पहली बार गया तो रात के समय मैंने देखा समुद्र के किनारे कोई बैठकर रो रहा है और उसकी सिसकियों की आवाजें आईं। हमने पहले से इस जगह के बारे में सुना था तो हम वहां एक पल भी नहीं रुके और वापस आ गए। फिर 8 महीनों के बाद मैं वापस उस जगह पर रात में ही गया लेकिन तब मुझे नहीं लगा कि वहां कोई भूत-प्रेत का बसेरा है।‘ इसी तरह सूरत के ही रहने वाले फोटोग्राफर निशांत का कहना है कि वे 500 से ज्यादा बार इस जगह पर जा चुके हैं लेकिन उन्हें ऐसा कुछ महसूस नहीं हुआ। रात में वे अक्सर अपने दोस्तों के साथ यहां क्रिकेट खेलने जाते हैं और उन्हें कोई भूत-प्रेत नजर नहीं आता है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments