Thursday, May 19, 2022
No menu items!
More
    Homeअजब-गजबनोएडा का ये रोटी बैंक हजारों भूखों का भर रहा पेट ,जानें...

    नोएडा का ये रोटी बैंक हजारों भूखों का भर रहा पेट ,जानें क्या है राज

    अक्सर लोग बैंक में पैसे लेने या देने के लिए जाते है लेकिन दिल्ली से सटे एनसीआर के अहम हिस्से नोएडा का रोटी बैंक खासी सुर्खियां बटोर रहा है। रोटी बैंक जो इस महीने की शुरुआत में नोएडा निवासियों के एक समूह द्वारा शुरू किया गया था। उसने केवल 11 दिनों में 1,10,000 चपातियां बनाई हैं। रोटी-बैंक 12 अप्रैल को सोसाइटी के निवासियों द्वारा शुरू किया गया था जिन्होंने शुरुआत में 400 चपातियां बनाई थीं।

    ‘रोटी बैंक’,हजारों भूखों का भर रहा पेट:

    रोटी बैंक रोजाना 3-4 हजार मजदूरों का पेट भर रहा है, यह बैंक सेक्टर 78 के कुछ निवासियों द्वारा शुरू किया गया था और नोएडा प्राधिकरण ने अपने सोसाइटियों से चपातियों के संग्रह के लिए वाहन भेजकर इसे सपोर्ट किया।

    सेक्टर 78 के अंतरिक्ष गोल्फ व्यू 2 के ब्रजेश शर्मा ने कहा, “हम अंतरिक्ष गोल्फ व्यू 1 और 2 के निवासियों, असोटेक विंडसर ने इस सेवा को शुरू करने के लिए सोचा। हमने नोएडा प्राधिकरण के साथ इस पर चर्चा की। वे इस संग्रह के लिए अपना वाहन भेजने पर सहमत हुए।

    ऐसे करता है काम:

    हमने अपने निवासियों को हमारे सोसाइटी व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से सूचित किया और नोटिस दिए गए। उन्होंने कहा, “हम अपने सोसाइटी के प्रत्येक टॉवर पर खाली बॉक्स लगाते हैं। शाम को 4 बजे से रहने वाले लोग प्रत्येक शाम चार चपातियों के एक पैकेट के साथ आने लगते हैं। पैकेट को उनके संबंधित टॉवर पर छोड़ देते हैं। शाम 5:30 बजे के आसपास, हम चपातियों से भरे सभी बक्से इकट्ठा करते हैं और इसे हमारे सोसाइटी गेट पर रख देते हैं।

    असोटेक विंडसर सोसायटी से सटे निवासी नितिन जैन ने कहा कि प्राधिकरण का वाहन शाम करीब 6 बजे सोसायटी में आता है, सभी बॉक्सों को उठाता है और दूर सोर्खा गांव में सामुदायिक रसोई में ले जाता है, जहां वे सब्जी या दाल तैयार करते हैं। भोजन के लिए 1,000 से अधिक मजदूर वहां इकट्ठा होते हैं।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments