Sunday, May 22, 2022
No menu items!
More
    Homeक्रिकेटIPL: मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच जिताकर शाहबाज़ नदीम बोले कुछ ऐसा

    IPL: मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच जिताकर शाहबाज़ नदीम बोले कुछ ऐसा

    आईपीएल: दुबई में चल रहे क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट आईपीएल-2020 में मंगलवार को इस सीजन के 56वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस को 10 विकेट से कारारी हार का सामना करवाया। इस शानदार जीत के साथ हैदराबाद की टीम प्लेऑफ में जाने वाली चौथी टीम बन गई। 


    सनराइजर्स हैदराबाद की इस जीत के असली हीरो रहे स्पिनर शाहबाज नदीम। जिन्होंने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 4 ओवर में महज 19 रन देकर 2 महत्वपूर्ण विकेट लिए। जिसके बाद उन्हें इस मैच में मैन ऑफ़ द मैच का खिताब मिला।  

    इस मैच में मुंबई इंडियंस ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 149 रन बनाये। जिसे हैदराबाद की टीम ने बिना विकेट खोए इस लक्ष्य को हासिल किया। हैदराबाद के लिए इस मैच में कप्तान डेविड वार्नर ने नाबाद 85 रन और ओपनर रिधिमान साहा ने नाबाद 58 रन बनाए। 

    हैदराबाद के लिए शाहबाज़ नदीम ने 4 ओवर में 19 रन देकर 2 विकेट हासिल किए और उन्हें इस मैच के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। नदीम ने इस मैच के बाद बताया कि आखिर वह इतने कारगर गेंदबाज कैसे साबित हुए। आइए जानते हैं इसके बारे में…

    शाहबाज नदीम ने इस टूर्नामेंट में कम मैचों में मौका मिलने के बाद भी अपना शानदार खेल दिखाया है। उन्होंने मैच के बाद इंटरव्यू के दौरान बात करते हुए कहा कि मैं पिछले कुछ सालों से ऐसे ही खेलता आ रहा हूं। अहम बात यह होती है कि जब कभी भी आपको मौका दिया जाए। तो अपना 100 फीसदी दें और ऐसा ही कुछ आज के मुकाबले में भी हुआ।

    इसके आगे उन्होंने अपनी खास कैरम बॉल को लेकर बात करते हुए नदीम ने बताया कि मैं इस कैरम बॉल को लेकर पिछले कुछ सालों से काम कर रहा हूं और मुझे लगा कि यह बिल्कुल सही समय है इसे करने का। इस टीम में काफी बाएं हाथ के बल्लेबाज शामिल हैं। राउंडर आर्म से की जाने वाली गेंद इतनी ज्यादा उछाल प्राप्त नहीं करती। 

    लेकिन यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि गेंद किस तरह से गिर रही है। अगर यह चमड़े पर गिरती है। तो धीमी रहेगी और अगर जो यह सीम पर गिरी। तो फिर इसको अधिक उछाल मिलेगा। आज मैं अपनी गेंद को चमड़े पर गिराकर स्किड कराने की कोशिश कर रहा था। 

    इसके आगे उन्होंने कहा कि टीम के लिए योगदान करने के बाद हमेशा ही आपको उत्साह मिलता है। सभी टीम में अच्छी तरह से अपना योगदान दे रहे हैं। मेरा काम इसमें फिट होने का था। यह बहुत ही छोटा मैदान है। लेकिन पिच धीरे धीरे घुमाव ले रही थी। इसी वजह से एक स्पिनर होने के नाते अगर आप गेंद को कही जगह पर डालेंगे तो यह काम करेगा।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments